यह ब्लॉग खोजें

सोमवार, 11 अप्रैल 2011

कपिल सिब्बल की बकवास

कपिल सिब्बल की पोल तबसे खुलने लग गयी जबसे वे दूरसंचार के मंत्री बने।
कांग्रेस और द्रमुक के सामूहिक भ्रष्टाचार को दबाने के लिए उन्हें २ जी घोटाले में कोई घोटाला ही

नहीं दिखा। इससे उनकी असलियत सामने आ गयी। लोग समझ गए कि कांग्रेस ने आखिर क्यूँ इस दलाल
को इस विभाग का जिम्मा सौंपा है।

सरकार की हार से बौखलाए सिब्बल को लोकपाल से कोई फायदा होता नहीं दिखता।
तब उन्हें इसकी समिति से इस्तीफा देकर गरीब कल्याण के काम में जुट जाना चाहिए।
उनके परिवार ने करोडो कमा रखा है, उसमें से आधा या तीन चौथाई ग़रीबों के भले में खर्चना चाहिए।
"ग़रीबों का यह शुभचिंतक" करोड़ों रुपए अपने परिवार में रखकर क्या करेगा?

1 टिप्पणी:

  1. कपिल सिब्बल एक शातिर आदमी है. कांग्रेस में ऐसे अनेक लोग हैं.
    इन्हें जनता की कोई परवाह नहीं.
    इसीलिए तो महंगाई इतनी बढ़ गयी है.
    इसीलिए तो १०० करोड लोगों को भूखा रहना पड़ रहा है या आधा पेट
    खाना मिल रहा है.

    उत्तर देंहटाएं