यह ब्लॉग खोजें

मंगलवार, 21 जून 2011

सोनिया गांधी की यात्रा का खर्च 1850 करोड़ - भाग- १

सोनिया गांधी की यात्रा खर्च का घोटाला

इतना खर्चा तो प्रधानमंत्री का भी नहीं है : पिछले तीन साल में सोनिया की सरकारी ऐश का सुबूत, सोनिया गाँधी के उपर सरकार ने पिछले तीन साल में जितनी रकम उनकी निजी विदेश यात्राओ पर की है उतना खर्च तो प्रधानमंत्री ने भी नहीं किया है ..एक सूचना के अनुसार पिछले तीन साल में सरकार ने करीब एक हज़ार आठ सौ अस्सी करोड रूपये सोनिया के विदेश दौरे के उपर खर्च किये है ..कैग ने इस पर आपति भी जताई तो दो अधिकारियो का तबादला कर दिया गया .
अब इस पर एक पत्रकार रमेश वर्मा ने सरकार से आर टी आई के तहत निम्न जानकारी मांगी है :

  1. सोनिया के उपर पिछले तीन साल में कुल कितने रूपये सरकार ने उनकी विदेश यात्रा के लिए खर्च किया है ?
  2. क्या ये यात्राएं सरकारी थी ?
  3. अगर सरकारी थी तो फिर उन यात्राओ से इस देश को क्या फायदा हुआ ?
  4. भारत के संविधान में सोनिया की हैसियत एक सांसद की है तो फिर उनको प्रोटोकॉल में एक राष्ट्राध्यक्ष का दर्जा कैसे मिला है ?
  5. सोनिया गाँधी आठ बार अपनी बीमार माँ को देखने न्यूयॉर्क के एक अस्पताल में गयी जो कि उनकी एक निजी यात्रा थी, फिर हर बार हिल्टन होटल में चार महगे सुइट भारतीय दूतावास ने क्यों सरकारी पैसे से बुक करवाए ?
  6. इस देश के प्रोटोकॉल के अनुसार सिर्फ प्रधानमंत्री और राष्ट्रपति ही विशेष विमान से अपने लाव-लश्कर के साथ विदेश यात्रा कर सकते है तो फिर एक सांसद को विशेष सरकारी विमान लेकर विदेश यात्रा की अनुमति क्यों दी गयी ?
  7. सोनिया गाँधी ने पिछले तीन साल में कितनी बार इटली और वेटिकेन की यात्राएं की है ?

मित्रों कई बार कोशिश करने के बावजूद भी जब सरकार की ओर से कोई जबाब नहीं मिला तो थक हारकर केंद्रीय सूचना आयोग में अपील करनी पड़ी.
केन्द्रीय सूचना आयोग प्रधानमंत्री और उनके कार्यालय के गलत रवैये से हैरान हो गया .और उसने प्रधानमंत्री के उपर बहुत ही सख्त टिप्पणी की

  1. केन्द्रीय सूचना आयोग ने कांग्रेस अध्यक्ष सोनिया गांधी के विदेशी दौरों पर खर्च हुए पैसे को सार्वजनिक करने को कहा है। सीआईसी ने प्रधानमंत्री कार्यालय को इसके निर्देश भी दिए हैं। हिसार के एक आरटीआई कार्यकर्ता रमेश वर्मा ने प्रधानमंत्री कार्यालय से सोनिया गांधी के विदेशी दौरों, उन पर खर्च, विदेशी दौरों के मकसद और दौरों से हुए फायदे के बारे में जानकारी मांगी है
  2. 26 फरवरी 2010 को प्रधानमंत्री कार्यालय को वर्मा की याचिका मिली, जिसे पीएमओ ने 16 मार्च 2010 को विदेश मंत्रालय को भेज दिया। 26 मार्च 2010 को विदेश मंत्रालय ने याचिका को संसदीय कार्य मंत्रालय के पास भेज दिया। प्रधानमंत्री कार्यालय के इस ढ़ीले रवैए पर नाराजगी जताते हुए मुख्य सूचना आयुक्त सत्येन्द्र मिश्रा ने निर्देश दिया कि भविष्य में याचिका की संबंधित मंत्रालय ही भेजा जाए। वर्मा ने पीएमओ के सीपीआईओ को याचिका दी थी। सीपीआईओ को यह याचिका संबंधित मंत्रालय को भेजनी चाहिए थी।

आखिर सोनिया की विदेश यात्राओ में वो कौन सा राज छुपा है जो इस देश के " संत " प्रधानमंत्री इस देश की जनता को बताना नहीं चाहते ? !

(यह बहुत बड़ा आलेख मुझे रजनी सक्सेना ने भेजा है. इसे मेरे मित्र साझा कर सकते हैं.)

8 टिप्‍पणियां:

  1. Just put in their account to debit where ever found some personal. Desh ki seva me jo kharch hote hai utne me se sahi maine me seva ki ja shakti hai.. Garibi rekha ka gyan aur dhyan rakhe to ye san personal expense me jata hai

    उत्तर देंहटाएं
  2. बहुत अच्छा लेख है. सभी पढ़ें.

    उत्तर देंहटाएं
  3. AISA KAUNSE KAAM SE VIDESH GAI THI JO ITNA KHARCHA HUA

    उत्तर देंहटाएं
  4. soni aunti great he,ye to bahut kam kharcha thaa,vese opretion ka kharcha bhi jod de,aage sarkar to rahagi nahi 3G ghotala,4G ghotale ko jhelne ko tayaar rahe..

    उत्तर देंहटाएं
  5. हा हा हा हा ... संगीतज्ञ जी. खर्चों का ब्यौरा और भी ज्यादा लंबा है.

    उत्तर देंहटाएं
  6. जनता तक एसी बातें पहुँचेगी नहीं तो पता कैसे चलेगा मेने आज पहली बार एसी कहानी सुनी है हाँ इतना जरूर सूना था कि राजीव गाँधी को सोनिया ने ही मरवाया है ये बात तो आप भी समझ सकते है कि राजीव के हत्यारे अभी तक जिदा है सोनिया ने माफ कर दिया है वो कयो कि ऊनीको बचाने का वादा किया होगा जब वादा नही किया होता तो प्रतिभा जी ने तो फांसी देने का हुक्म दे दिया तो फांसी पे रोक कैसे लग गई तो अब आप ही विचार करे कितनी घटिया ये सोनिया है खास बात तो ये है इतनी जोर जबरन कैसे करते है ये कांग्रेस वाले और जनता को अब जागना चाहिए कि अब और जनता को अब सोच विचार कर के ही नेता चुनना चाहिए कांग्रेस हटाऔ देश बचाऔ

    उत्तर देंहटाएं
  7. what ever your say friends buts it India no body can change the system who ever ANNA HAZARE OR RAMDEV

    उत्तर देंहटाएं
  8. What the bloody hell is this Soniya Gandhi........India ki barbaadi hai........

    Change jaroor hoga aur aisa hoga ki History ki book me 2-3 chapter ADD jo jayenge aur wo book 10th class ke students ko padhai jayegi.......

    उत्तर देंहटाएं